विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2021 : जानें क्यों मनाया जाता है विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस और क्या है इस साल की थीम

प्रेस को हर कोई जानता और रोजमर्रा के जीवन में उपयोग करता है, लेकिन क्या आपको पता है कि 3 मई को वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे मनाया जाता है। लोकतंत्र (Democracy) में प्रेस को चौथा स्तंभ कहा गया है। सभी देशों में प्रेस की स्वतंत्रता (freedom of press) को लेकर चर्चाएं होते रहती है, कई देश ऐसे है, जिन्होंने प्रेस की स्वतंत्रता (freedom of press) को ध्यान में रखते हुए कई नियम बनाए हुए है। वहीं कई देश में आज भी पत्रकारों को स्वतंत्रता के लिए सरकार से सवाल जवाब करना पड़ रहा है। कोरोना महामारी से पूरा विश्व जूझ रहा है, ऐसे समय में कोरोना योद्धा (Corona warrior) के रूप में प्रेस कर्मियों ने भी अपनी अहम भूमिका निभाई है। जो लोगों को जागरूक करने के साथ साथ उनकी समस्या को सरकार तक पहुंचाने का काम भी प्रेस द्वारा ही किया जा रहा है।

इसे भी पढें-    अंग्रेजी दवाइयों के साथ होम्योपैथी भी है कोरोना को मात देने में सहायक, डॉक्टर दे रहे सलाह

यूनेस्को ने की थी World Press Freedom Day मनाने की शुरूआत

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World press freedom day) 3 मई को मनाया जाता है। जिसकी शुरूआत यूनेस्को (UNESCO) द्वारा की गई थी। विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World press freedom day) पर हर साल एक थीम रखी जाती है। इस बार कोरोनाकाल में लोगों की समस्या और जरूरतों को देखते हुए इसका थीम ‘Information as Public Good’ रखी गई है। जिसका हिन्दी में अर्थ है ‘लोगों के भले के लिए सूचना’। अभी भी कई देश ऐसे है, जहां प्रेस की स्वतंत्रता से वंचित रखा गया है, जिसके कारण उन्हें अधिकार पहुंचाने का अधिकार भी नहीं दिया जाता है। इन्ही कारणों के चलते यूनेस्को (UNESCO) द्वारा 3 मई को World Press Freedom Day मनाया जाता है। जिससे प्रेस की आजादी (Freedom of press) को सम्मान मिल सके। आइए अब जानते है विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World Press Freedom Day) की कुछ खास बातें।

हर साल 3 मई को मनाया जाता है विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस

प्रेस के महत्व को लोगों तक पहुंचाने और उसकी आजादी को सम्मान देने के उद्देश्य से सन् 1997 से 3 मई को World Press Freedom Day मनाया जाता आ रहा है। जिसकी शुरूआत यूनेस्को (UNESCO) द्वारा की गई थी। बता दें कि इस दिन प्रेस की आजादी के लिए अच्छा कार्य करने वाले व्यक्ति या संस्थान को ‘गिलेरमो कानो वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम पुरस्कार’ (Guillermo Kano World Press Freedom Award) से सम्मानित किया जाता है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2021 की ये है थीम

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World Press Freedom Day) के अवसर पर हर साल थीम रखी जाती है। इस साल विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2021 (World Press Freedom Day 2021) की थीम ‘Information as Public Good’ रखी गई है। जिसका उद्देश्य लोगों के भले या अच्छे के लिए सूचना पहुंचाना है। लोगों तक सही जानकारी पहुंचा ही प्रेस का मुख्य उद्देश्य होता है, जिससे लोग जागरूक और न्यूज की वास्तविकता को समझ सकें।

समाज के विकास में प्रेस की भूमिका

वर्तमान समय में हर वर्ग अपने अनुसार लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे है, जिसमें प्रशासन, डॉक्टर, पुलिस प्रशासन और समाज सेवक तत्पर होकर कार्य कर रहे है, वहीं प्रेस भी इस दिशा में बेहतर और दायित्वपूर्ण कार्य करने में लगा हुआ है। ऐसे में कह सकते है कि समाज के विकास में प्रेस एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। जो हर समय लोगों को जागरूक करने और सही जानकारी पहुंचाने के लिए कार्य कर रही है। पूरी दुनिया में क्या घटना घट रही है, सरकार की क्या योजनाएं है, ये सारी जानकारी प्रेस बखूबी से जनता तक पहुंचाती है।

जो काम बारूद, तोपे और तलवार नहीं कर सकती वो ताकत कलम में होती है

एक कहावत तो सभी ने सुनी होगी, जहां बड़ी-बड़ी तोपे, बारूद और तलवारे भी फेल हो जाती है वहां एक कलम भारी पड़ सकती है। जिस कलम के सामने बड़े-बड़े लोग भी नहीं टिक पाते और अपनी हार मान लेते हैं। ऐसी ताकत सिर्फ प्रेस के पास होती है, जो एक कलम से ही बड़े से बड़ा काम करके दिखा देती है। वर्तमान में प्रेस में काम करना एक चुनौतीपूर्ण हो गया है। जहां बड़े-बड़े घोटाले और सच को जनता के सामने लाने में बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

इसे भी पढें-   नीम के पत्ते चबाने के फायदे || Benefits of Neem Leaves in Hindi

कोरोनाकाल सभी लोगों के लिए एक मुश्किल की घड़ी है। जहां हर दिन लाखों लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। वहीं हर दिन हजारों की संख्या में लोगों की मौत हो रही है। इस दौरान प्रशासन द्वारा लगाए जाने वाले लॉकडाउन में कई सरकारी दफ्तर भी बंद होते है और सरकारी कर्मचारी अपने घरों में बैठकर आराम से काम करते हैं, लेकिन प्रेस हमेशा एक्टिव रहता है, जो लोगों तक जानकारी और खबरें पहुंचाने के लिए तत्पर रहता है। कोरोना वायरस ने ऐसे कई पत्रकारों को भी अपनी चपेट में ले लिया, जिनकी मौत भी हो गई है। जो मीडिया जगत के लिए बहुत बड़ी क्षति है। जिस तरह से चिकित्सक, पुलिस और जिला प्रशासन कोरोना काल में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे है, उसी तरह प्रेस भी अपनी भूमिका बखूबी निभा रही है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *