Shiv Pujan Vidhi | महा शिवरात्रि पूजन की सरलतम विधि | सोमवार शिव पूजा विधि

भगवान शिव (Lord Shiva) की महिमा अपरम्पार है। शिवजी अपने भक्तों की समस्त मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं। यदि कोई मनुष्य सच्ची श्रद्धा भक्ति से शिवलिंग पर सिर्फ एक लोटा पानी भी अर्पित करे तो भी शिवजी प्रसन्न हो जाते हैं। इनकी भक्ति करने वाले व्यक्ति को संसार की सभी वस्तुएं प्राप्त हो जाती हैं। भगवान शिव की पूजा करने से पिछले पापों का नाश होता है और सुखद भविष्य बनता है। नियमित रूप से शिवलिंग का पूजन करने वाले व्यक्ति के जीवन में दुखों का सामना करने की शक्ति प्राप्त होती है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए विधि पूर्वक पूजा करे तो शिव जी सारी मनोकामना पूरी करते हैं। सोमवार को शिव पूजन (Somvar Shiv Pujan) का विशेष महत्व हैं वैसे आप नित्य प्रतिदिन शिव पूजा (Shiv Puja) कर सकते हैं।

भगवान शिव पूजा विधि Shiv Puja (Pujan) Vidhi In Hindi

सुबह जल्दी स्नान करके और सफ़ेद कपडे पहनकर शिव पूजन करना चाहिए। शिव जी की पूजा सुबह में पूर्व दिशा, शाम को पश्चिम दिशा और रात्रि में उत्तर दिशा की ओर मुंह करके करनी चाहिए।

शिव पूजा का सकंल्प कैसे करें

शिव पूजा शुरू करने से पहले सकंल्प लेना चाहिए। संकल्प करने से पहले हाथों में जल, फूल व चावल लें। सकंल्प में जिस दिन पूजन कर रहे हैं उस वर्ष, माह, तिथि, वार, जगह और अपने नाम को लेकर अपनी इच्छा बोलें। अब हाथों में लिए गए जल को जमीन पर छोड़ दें।

शिव पूजन विधि

  • अपने बाएँ हाथ की हथेली में जल लें एवं निम्न मंत्र बोलते हुए दाहिने हाथ की अनामिका उँगली व आसपास की उँगलियों से जल स्वयं के ऊपर एवं पूजन सामग्रियों पर छिड़कें।

मंत्र-ॐ अपवित्र: पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोअपी वा | य: स्मरेत पुण्डरीकाक्षं स बाहान्तर: शुचि:।।

  • श्रद्धा भक्ति के साथ घी का दीपक लगाएं।
  • दीपक रोली/कुमकुम, अक्षत, पुष्प से पूजन करें।
  • अगरबत्ती/धूपबत्ती जलाये।
  • जल भरा हुआ कलश स्थापित करे और कलश का धूप, दीप, रोली, अक्षत, पुष्प से पूजन करें।
  • सर्वप्रथम गणेशजी और गौरी का पूजन करें।
  • अब शिवजी का ध्यान और हाथ मैं अक्षत पुष्प लेकर “ॐ नमः शिवाय मंत्र” बोलते हुए शिवजी का आवाहन करें।
  • अक्षत और पुष्प शिवलिंग को समर्पित कर दे।
  • अब शिवलिंग का जल, कच्चे दूध और पंचामृत से अभिषेक करें।
  • गन्ने का रस, भांग, शहद, शिवलिंग को अर्पित करें।
  • पुनः शुद्ध जल से अभिषेक करें।
  • चन्दन, अक्षत, सिंदूर, इत्र, दूर्वां, बिल्व पत्र, पुष्प और माला अर्पित करें।
  • धुप और दीप दिखाए।
  • शिव जी को चावल सर्वाधिक प्रिय हैं। अतः चावल की खीर, मिठाइयाँ एवं ऋतुफल जैसे- सेब,  केला, आम आदि अर्पित करें।
  • आचमन के लिए जल अर्पित करें।
  • श्री शिव चालीसा का पाठ करें।
  • अंत मैं शिव आरती करें।
  • शिव पूजा के बाद अज्ञानतावश पूजा में कुछ कमी रह जाने या गलतियों के लिए भगवान शिव के सामने हाथ जोड़कर निम्नलिखित मंत्र का जप करते हुए क्षमा याचना करें।

मन्त्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं सुरेश्वरं, यत पूजितं मया देव, परिपूर्ण तदस्त्वैमेव।।

आवाहनं न जानामि, न जानामि विसर्जनं, पूजा चैव न जानामि, क्षमस्व परमेश्वरं।।

हमारी बताई गयी सरल शिव पूजा विधि से पूजन करने से भगवान शिव आपकी सारी मनोकामनाएं अवश्य पूर्ण करेंगे।

 

हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, Latest News in Hindi, न्यूज़, Samachar in Hindi, News-Post, Hindi News, News trend, news post, Political News. Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *