manoj bajpayee birthday special

Manoj Bajpayee : जानें छोटे से गांव से निकलकर कैसे बने फिल्मी स्टार

मनोरंजन

बॉलीवुड एक्टर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) को कौन नहीं जानता। बॉलीवुड फिल्मों (Bollywood movies) में जाने माने कॉमेडी और कई गंभीर किरदार में मनोज बाजपेयी हमारे सामने दिखाई दिए हैं। जिनकी बॉलीवुड (Bollywood) में एक अलग ही पहचान है। मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) का जन्म 23 अप्रैल 1969 में पश्चिमी चंपारण के नरकटियागंज के बेलवा गांव में हुआ। एक छोटे से गांव में जन्मे मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) का जीवन संघर्षमय रहा। जिनके पिता जी खेती का काम करते थे। मनोज बाजपेयी ने स्कूल की पढ़ाई बेतिया जिले से पूरी की, वहीं सत्यवती कॉलेज चले गए, जिसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) के रामजस कॉलेज (Ramjas College) से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की। मनोज बाजपेयी के स्ट्रगल की शुरुआत नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (National School of Drama) से शुरू हुई, जहां से उन्हें 4 बार खारिज कर दिया गया। जिसके वे बैरी जॉन के साथ थियेटर में आ गए।

इसे भी पढें-  हरियाणा की ‘पटाका क्वीन’ सपना चौधरी का वीडियो हो रहा वायरल

मनोज ने ‘स्वाभिमान’ धारावाहिक से की अपने एक्टिंग करियर की शुरूआत

मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) के एक्टिंग करियर की शुरुआत एक धारावाहिक से हुई थी, जो दूरदर्शन पर प्रसारित होती थी। इस धारावाहिक का नाम ‘स्वाभिमान’ था। इसी धारावाहिक से उन्होंने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की। जिसके बाद उन्हें फिल्मों में शेखर कपूर (Shekhar kapoor) ने सबसे पहले मौका दिया। शेखर कपूर ने 1994 में ‘बैंडिट क्वीन’ (Bandit queen) फिल्म में काम दिया, लेकिन मनोज बाजपेयी को 1998 में पहचान मिली, जब उन्होंने रामगोपाल वर्मा की ‘सत्या’ फिल्म में काम किया। मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) को सबसे पहले ‘सत्या’ और ‘शूल’ फिल्म के लिए फिल्म फेयर (Film fair) बेस्ट एक्टर के अवार्ड (Best Actor Award) से नवाजा गया। वही फिल्म ‘पिंजर’ में उन्होंने एक जबरदस्त एक्टिंग से नेशनल फिल्म अवार्ड (National film award) भी अपने नाम किया।

बचपन से ही मनोज ने संजोया एक्टर बनने का सपना

मनोज ने बताया कि उन्होंने बचपन से ही ठान लिया था कि उन्हें एक्टर बनना है। जिसके लिए उन्होंने 17 साल की उम्र में ही यह तय कर लिया था। लेकिन उनका यह निर्णय पक्का तब हुआ जब उन्होंने बॉलीवुड के सुपर स्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की ‘जंजीर’ फिल्म देखी और उन्हें सिर्फ एक्टिंग करना है। जिस वक्त उन्होंने एक्टर बनने का सपना संजोया उस समय उनके आसपास थियेटर (Theater) की कोई सुविधा नहीं थी। इसके बावजूद भी उन्होंने पूरी निष्ठा से अपने सपने को साकार करने की कोशिश की, जिसके लिए लिटरेचर (Literature) उनका सहारा बना।

मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड में की है कई सुपरहिट फिल्में

वर्तमान समय में मनोज बाजपेयी को हर कोई जानता है, जिनके एक्टिंग के कई फैन्स है। मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड में कई सुपरहिट फिल्में की है, साथ ही वेब सीरीज में भी नजर आए हैं। जिनके एक्टिंग की तारीफ आज हर कोई करता है। मनोज बाजपायी के निजी जिंदगी की बात करें तो उन्होंने दो शादियां की है। पहली शादी उन्होंने 1990 में की, जो ज्यादा समय तक नहीं चल सकी। जिसके बाद उन्होंने 2006 में बॉलीवुड एक्ट्रेस नेहा के साथ दूसरी शादी की। बॉलीवुड एक्ट्रेस नेहा का असली नाम शबाना रजा है।

इसे भी पढें-   कम उम्र में शादी होने से लेकर देश की फेम्स फिटनेस ट्रेनर बनने तक का सफर जैस्मिन के लिए नहीं था आसान, जाने संघर्ष की पूरी कहानी

मनोज बाजपेयी से जुड़ा एक किस्सा

मनोज बाजपेयी से जुड़ी एक शानदार कहानी सुनने को मिलती है, जिसमें पंकज त्रिपाठी भी शामिल है। यह बात तब की है जब मनोज बाजपेयी गैंग्स ऑफ वासेपुर की शूटिंग में थे। इसी दौरान वह पटना के मौर्या होटल में ठहरे हुए थे। इसी होटल में पंकज त्रिपाठी किचन सुपरवाइजर के पद पर पदस्थ थे। पंकज त्रिपाठी ने द कपिल शर्मा के शो में इस किस्से को साझा किया। होटल में काम करने वाले कुछ लोगों ने उन्हें बताया कि मनोज बाजपेयी इसी होटल में ठहरे हुए है, जिसे सुनकर वह चौंक गए। क्योंकि उस दौरान वह थियेटर कर रहे थे। जिसके बाद पंकज त्रिपाठी ने होटल में उनकी खूब खातिरदारी की और जब मनोज बाजपेई ने होटल से चेक आउट किया तो होटल के कमरे में वह अपनी चप्पल भूल आए। जैसे ही पंकज त्रिपाठी को यह मालूम हुआ कि मनोज बाजपेयी अपनी चप्पल भूल गए हैं, तब वह उस चप्पल को अपने कब्जे में ले लिए और उन्होंने सोचा कि अगर मैं एकलव्य की भांति इस चप्पल में अपना पैर रख दूंगा, यह बताते बताते उनकी आंखों से भावुकता के आंसू छलक आए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *