Pm Modi Waits for Mamata Banerjee

प्रधानमंत्री मोदी को सीएम ममता बनर्जी ने करवाया इंतजार, बीजेपी ने किया हमला

भारत राजनीति

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) यास चक्रवात (yaas cyclone) से हुई तबाही का जायजा लेने पश्चिम बंगाल और ओडिशा के दौरे पर गए हुए थे। इसके साथ ही यास तूफान (yaas cyclone) के चलते हुए नुकसान की समीक्षा करने के लिए पीएम मोदी  द्वारा दोनों राज्य के आधिकारियों और सीएम के साथ बैठक की गई। लेकिन इस समीक्षा बैठक (Review Meeting) ने सियासत में उछाल लाने का काम किया है। इस मीटिंग में टीएमसी (TMC) से बीजेपी (BJP) में शामिल हुए और नंदीग्राम सीट (Nandigram) पर जीत हासिल करने वाले शुभेंदु अधिकारी के साथ ही बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Bengal Governor Jagdeep Dhankhadh) उपस्थित थे। लेकिन इस बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने पीएम मोदी को 30 मिनट तक इंतजार करवाया, मिली जानकारी के अनुसार सीएम ममता बनर्जी और मुख्य सचिव उसी परिसर में मौजूद थे। वहीं मीटिंग में देरी से पहुंचे के बाद सीएम ममता (CM Mamata) ने प्रधानमंत्री को यास साइक्लोन से हुई तबाही और नुकसान की रिपोर्ट सौंप कर वहॉ से ये कह कर चली गई कि उन्हें अन्य मीटिंग में जाना है। ममता बनर्जी के इस रैवये के कारण विपक्ष उन पर लगातार निशाना साधा रहा है।

ये भी पढें-  Lakshadweep News: लक्षद्वीप में क्यों उठी पटेल को हटाने की मांग?

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पीएम मोदी को करवाए गए इंतजार को लेकर टीएमसी ने दिया जवाब

वहीं हो रही आलोचना के लेकर ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)  की पार्टी टीएमसी (TMC) ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि जिसमें उन्होंने दावा किया है कि ममता ऑफिस से कथित तौर पर कहा गया था कि सागर द्वीप से कलाईकोंडा तक पहुंचने में 20 मिनट तक की देरी हो जाएगी, जिसके बाद ममता बनर्जी का हैलीकॉप्टर 15 मिनट तक एयरबेस में हवा में ही रहा, जब ममता बनर्जी का हैलीकॉप्टर एयरबेस पहुंचा तब का बैठक शुरु हो चुकि थी। वहीं इसी दौरान सीएम ममता बनर्जी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की छोटी सी मुलाकात हुई जिसमें यास चक्रवात (yaas cyclone) से हुए नुकसान की रिपोर्ट पीएम को सौंपी गई और वह वहां से दूसरी मीटिंग के लिए निकल गई। यही कारण है जो सीएम को मीटिंग मे आने में देर हो गई। उधर ममता के इस रैवया के कारण बीजेपी ने उन पर हमलावर हो गई है।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर जाता खेद, कहा – यह रवैया दुर्भाग्यपूर्ण

वहीं सीएम ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) को आड़े हाथो लेते हुए देश के गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने ट्विटर (Twitter) पर टीव्ट करते हुए उनके रैवया की आलोचना करते हुए लिखा कि ममता दीदी का आचरण आज दुर्भाग्यपूर्ण रहा है। चक्रवात यास (yaas cyclone) ने कई आम नागरिकों को प्रभावित किया है और प्रभावित लोगों की सहायता करना समय की मांग है। दुख की बात है कि दीदी ने जनकल्याण से ऊपर अहंकार को रखा है और आज किया गया ये क्षुद्र व्यवहार यही दर्शाता है।

जेपी नड्डा ने बताया सीएम ममता के रवैया को अहंकार

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीपी नड्डा (JP Nadda) ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी चक्रवात यास के मद्देनजर पश्चिम बंगाल के नागरिकों के साथ मजबूती से खड़ी हैं, ममता जी को भी लोगों के कल्याण के लिए अपना अहंकार अलग रखना चाहिए। पीएम की बैठक से उनकी अनुपस्थिति संवैधानिक लोकाचार और सहकारी संघवाद की संस्कृति की हत्या है।

वहीं अपने ट्वीट में आगे लिखते है कि प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी जी सहकारी संघवाद के सिद्धांत को बहुत पवित्र मानते हैं और लोगों को राहत देने के लिए पार्टी की परवाह किए बिना सभी मुख्यमंत्रियों के साथ सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। आश्चर्य MamataOfficial की रणनीति और क्षुद्र राजनीति एक बार फिर बंगाल के लोगों को परेशान करने लगी है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बोला सीएम ममता पर हमला, कहा – प्रधानमंत्री व्यक्ति नहीं संस्था है

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने भी ट्वीट कर ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) पर हमला बोला है, वह लिखते है कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) का आज का घटनाक्रम स्तब्ध करने वाला है। मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री व्यक्ति नहीं संस्था है। दोनों जन सेवा का संकल्प और संविधान के प्रति निष्ठा की शपथ लेकर दायित्व ग्रहण करते हैं। आपदा काल में जनता की मदद करने की भाव से बंगाल आए हुए प्रधानमंत्री के साथ इस प्रकार का व्यवहार दुखदायक है। जन सेवा के संकल्प व संवैधानिक कर्तव्य से ऊपर राजनैतिक मतभेदों को रखने का यह एक दुर्भाग्यपूर्ण उदाहरण है, जो भारतीय संघीय व्यवस्था की मूल भावना को भी आहत करने वाला है।

सीएम योगी और सीएम शिवराज ने दी सीएम ममता बनर्जी के व्यवहार पर प्रतिक्रिया

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगीआदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chouhan)  ने भी सीएम ममता (Mamata) के व्यवहार को शर्मनाक बताया है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यानाथ ने सोशल मीडिया के माध्यम से आपना खेद प्रकट किया, उन्होंने लिखा कि माननीय नरेंद्र मोदी जी और पूरा देश बंगाल की जनता के साथ खड़ा है।Mamata Official क्षुद्र राजनीति से ऊपर उठना चाहिए, अहंकार छोड़ देना चाहिए और अपने साथ काम करना चाहिए।

वह आगे लिखते है कि ममता बनर्जी का असहयोग केंद्र के साथ संवैधानिक मानदंडों का घोर उल्लंघन और सहकारी संघवाद के लोकाचार के खिलाफ है। पीएम की बैठक से अनुपस्थिति चक्रवात यास के कारण मुश्किल समय में बंगाल के लोगों के कल्याण और बेहतरी के प्रति उनकी असंवेदनशीलता को दर्शाता है।

वही मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कई ट्वीट कर सीएम ममता बनर्जी को ऐना दिखाने का प्रयास किया है, वह अपने ट्वीट में लिखते है कि राजनीति का इतना निचला स्तर मैंने कभी नहीं देखा, जो आज ममता जी ने किया। मैंने पहले ही TMC का मतलब बताया था कि तोड़ो, मारो, काटो। जीतने के बाद प्रतिद्वंदियों को तोड़ना, मारना शुरू कर दिया था ममता दीदी ने अब बंगाल को भारत से काट रही हैं!

जीत के अहंकार में मदमस्त हैं ममता बनर्जी! अहंकार तो रावण का भी नहीं टिका, आप कौन सी चीज हो! आप अपने कुकर्मों से बंगाल के वैभवशाली इतिहास और गौरव को धूमिल कर रही हैं। राजनैतिक प्रतिबद्धताएं अलग हो सकती हैं, विचारधारा अलग हो सकती है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी जी के प्रति असम्मान व्यक्त करना आपकी घटिया, निकृष्ट सोच को दिखाती है। मैं भी मुख्यमंत्री हूं, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी के समय में भी मैं लगभग 9 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहा, लेकिन मैंने कभी उनके सम्मान में कमी नहीं रखी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बंगाल की जनता की चिंता करने पहुंचे थे, उस पर आपसे चर्चा होनी थी। जिस जनता ने आपको चुना, उसके कल्याण पर आप चर्चा नहीं करना चाहती हैं, ये आपका अहंकार नहीं तो क्या है!

ये भी पढें-  Mehul Choksi Update: मेहुल चोकसी को वापस लाने में भारत सरकार सफल होगी या नही?

केंद्र ने किया बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय का दिल्ली तबादला

बता दें कि बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय (west bengal Chief secretary Alpan Bandopadhyay) के मीटिंग में नहीं पहुंचे के कारण उन पर कार्रवाई करते हुए बंगाल सरकार (Bengal Government) को अलपन बंदोपाध्याय को जल्द रिलीव करने का और उनके दिल्ली (Delhi) तबादले का आदेश जारी किया है। सोमवार तक अलपन बंदोपाध्याय को दिल्ली (Delhi) में रिपोर्ट करने को कहा है। वहीं यास चक्रवात (yaas cyclone) से हुए नुकसान कि रिपोर्ट सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को सौंपने के साथ ही 20 हजार करोड़ के पैकेज की मांग की है।

Spread the love

2 thoughts on “प्रधानमंत्री मोदी को सीएम ममता बनर्जी ने करवाया इंतजार, बीजेपी ने किया हमला

  1. This is a slap direct on the face.
    Moral of the story is give respect and give respect
    Well done dideee..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *