Maa Chandraghanta Aarti in Hindi

माता चन्द्रघण्टा आरती || Maa Chandraghanta Aarti in Hindi

आरती

 माता चन्द्रघण्टा आरती || Maa Chandraghanta Aarti in Hindi

 

जय मां चंद्रघंटा सुख धाम, पूर्ण कीजो मेरे काम।
चंद्र समान तू शीतल दाती, चंद्र तेज किरणों में समाती।।

क्रोध को शांत बनाने वाली, मीठे बोल सिखाने वाली।
मन की मालक मन भाती हो, चंद्रघंटा तुम वरदाती हो।।

सुंदर भाव को लाने वाली, हर संकट मे बचाने वाली।
हर बुधवार जो तुझे ध्याये, श्रद्धा सहित जो विनय सुनाय।।

मूर्ति चंद्र आकार बनाएं, सन्मुख घी की ज्योत जलाएं ।
शीश झुका कहे मन की बाता।।

पूर्ण आस करो जगदाता, कांचीपुर स्थान तुम्हारा।
करनाटिका में मान तुम्हारा।।

नाम तेरा रटू महारानी, ‘भक्त’ की रक्षा करो भवानी।।

॥ Maa Chandraghanta Aarti in Hindi Ends॥

 

इसे भी पढें-   माता चन्द्रघण्टा की व्रत कथा और पूजा विधि || Maa Chandraghanta Vrat Katha and Pujan Vidhi

 

Maa Chandraghanta Aarti In English  – Lyrics ( Jay Maa Chandraghanta Sukh Dhaam)

jay maa chandraghanta sukh dhaam, poorn keejo mere kaam।
chandr samaan too sheetal daatee, chandr tej kiranon mein samaatee।।

krodh ko shaant banaane vaalee, meethe bol sikhaane vaalee।
man kee maalak man bhaatee ho, chandraghanta tum varadaatee ho।।

sundar bhaav ko laane vaalee, har sankat me bachaane vaalee।
har budhavaar jo tujhe dhyaaye, shraddha sahit jo vinay sunaay।।

moorti chandr aakaar banaen, sanmukh ghee kee jyot jalaen।
sheesh jhuka kahe man kee baata।।

poorn aas karo jagadaata, kaancheepur sthaan tumhaara।
karanaatika mein maan tumhaara।।

naam tera ratoo mahaaraanee, bhakt kee raksha karo bhavaanee।।

 

इसे भी पढें-  Durga Chalisa in Hindi || दुर्गा चालीसा : हिन्दी अर्थ सहित 

इसे भी पढें- Ambe Mata Ki Aarti: दुर्गा जी की आरती ॥ Jai Ambe Gauri Maiya, Jaa Shyama Gauri

 

यदि आप चाहे तो माता चन्द्रघण्टा की आरती (Maa Chandraghanta Aarti in Hindi) के लिए Prabhu Darshan मोबाईल ऐप डाउनलोड कर सकते है और जब कभी आपको जाप करने का मन करे तो आप बिना इंटरनेट कनेक्शन के भी पूजा पाठ कर सकते हैं।

 

Prabhu Darshan- 100 से अधिक आरतीयाँचालीसायें, दैनिक नित्य कर्म विधि जैसे- प्रातः स्मरण मंत्र, शौच विधि, दातुन विधि, स्नान विधि, दैनिक पूजा विधि, त्यौहार पूजन विधि आदि, आराध्य देवी-देवतओ की स्तुति, मंत्र और पूजा विधि, सम्पूर्ण दुर्गासप्तशती, गीता का सार, व्रत कथायें एवं व्रत विधि, हिंदू पंचांग पर आधारित तिथियों, व्रत-त्योहारों जैसे हिंदू धर्म-कर्म की जानकारियों के लिए अभी डाउनलोड करें प्रभु दर्शन ऐप।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *