Maa Brahmacharini Aarti in Hindi

माता ब्रह्मचारिणी आरती || Maa Brahmacharini Aarti in Hindi

आरती

 माता ब्रह्मचारिणी आरती || Maa Brahmacharini Aarti in Hindi

 

जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता। जय चतुरानन प्रिय सुख दाता।
ब्रह्मा जी के मन भाती हो। ज्ञान सभी को सिखलाती हो।

ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा। जिसको जपे सकल संसारा।
जय गायत्री वेद की माता। जो जन निस दिन तुम्हें ध्याता।

कमी कोई रहने न पाए। कोई भी दुख सहने न पाए।
उसकी विरति रहे ठिकाने। जो तेरी महिमा को जाने।

रुद्राक्ष की माला ले कर। जपेजो मंत्र श्रद्धा दे कर।
आलस छोड़ करे गुणगाना। मां तुम उसको सुख पहुंचाना।

ब्रह्माचारिणी तेरो नाम। पूर्ण करो सब मेरे काम।
भक्त तेरे चरणों का पुजारी। रखना लाज मेरी महतारी।

॥ Maa Brahmacharini Aarti in Hindi Ends॥

 

इसे भी पढें-  माता ब्रह्मचारिणी की व्रत कथा और पूजा विधि || Maa Brahmacharini Vrat Katha and Pujan Vidhi

 

Maa Brahmacharini Aarti In English  – Lyrics ( Jay Ambe Brahmaachaarinee Mata)

Jay Ambe Brahmaachaarinee Mata । Jay Chaturaanan Priy Sukh Daata॥
Brahma Jee Ke Man Bhati Ho। Gyaan Sabhi Ko Sikhalaati Ho॥

Brahma Mantr Hai Jaap Tumhara। Jisako Jape Sakal Sansara॥
Jay Gaayatri Ved Ki Mata। Jo Man Nis Din Tumhen Dhyata॥

Kamee Koi Rahane Na Pae। Koi Bhi Dukh Sahane Na Pae॥
Usaki Virati Rahe Thikaane। Jo ​Teri Mahima Ko Jaane॥

Rudraaksh Ki Mala Le Kar। Jape Jo Mantr Shraddha De Kar॥
Aalas Chhod Kare Gunagaana। Maan Tum Usako Sukh Pahunchaana॥

Brahmacharinee Tero Naam। Poorn Karo Sab Mere Kaam॥
Bhakt Tere Charanon Ka Pujari। Rakhana Laaj Meri Mahatari॥

॥ Mata Brahmacharini Aarti  Ends ॥

 

इसे भी पढें-  Durga Chalisa in Hindi || दुर्गा चालीसा : हिन्दी अर्थ सहित 

इसे भी पढें- Ambe Mata Ki Aarti: दुर्गा जी की आरती ॥ Jai Ambe Gauri Maiya, Jaa Shyama Gauri

 

यदि आप चाहे तो माता ब्रह्मचारिणी की आरती (Maa Brahmacharini Aarti in Hindi) के लिए Prabhu Darshan मोबाईल ऐप डाउनलोड कर सकते है और जब कभी आपको जाप करने का मन करे तो आप बिना इंटरनेट कनेक्शन के भी पूजा पाठ कर सकते हैं।

 

Prabhu Darshan- 100 से अधिक आरतीयाँचालीसायें, दैनिक नित्य कर्म विधि जैसे- प्रातः स्मरण मंत्र, शौच विधि, दातुन विधि, स्नान विधि, दैनिक पूजा विधि, त्यौहार पूजन विधि आदि, आराध्य देवी-देवतओ की स्तुति, मंत्र और पूजा विधि, सम्पूर्ण दुर्गासप्तशती, गीता का सार, व्रत कथायें एवं व्रत विधि, हिंदू पंचांग पर आधारित तिथियों, व्रत-त्योहारों जैसे हिंदू धर्म-कर्म की जानकारियों के लिए अभी डाउनलोड करें प्रभु दर्शन ऐप।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *