Remember 4 Jyotish bad habits always: ज्योतिष के अनुसार कौन कौन सी आदतें बुरी होती हैं

ज्योतिष (jyotish vigyan in hindi) के अनुसार निम्न लिखित आदतें बुरी होती हैं।

Jyotish Bad Habits:

1. कहीं भी थूकना नहीं चाहिए : यदि आपको कभी भी थूकते रहने की आदत है तो आप यह मान लें कि आपका यश, सम्मान और आपकी प्रतिष्ठा ज्यादा समय तक टिकने वाली नहीं है। यश गया तो धन भी गया समझो। इस आदत से बुध (Budh) और सूर्य (Surya) खराब प्रभाव देना प्रारंभ कर देते हैं।

2. जूठी थाली : कई लोग हैं जिनकी थाली में ही हाथ धोने और जूठी थाली को वहीं छोड़कर उठ जाने की आदत होती है। यह शास्त्र विरुद्ध कर्म है। ऐसे लोगों को जीवन में सफलता के लिए संघर्ष करना होता है और उनके घरों में बरकत भी नहीं रहती है। इससे मानसिक अशांति भी बढ़ती है। इस आदत से चंद्र (Chandra) और शनि (Shani dev) खराब हो जाते हैं।

इसे भी पढें:  जानिए किन आदतों से ग्रह खराब होते है और अपने शुभ फलों में कमी करते हैं।  Jyotish bad habits

3. मेहमान को पानी नहीं पिलाना : कई लोग ऐसे हैं जो अपने घर आए मेहमान से पानी तक का नहीं पूछते हैं। मेहमान हो या कोई काम करने वाला उसे स्वच्छ पानी जरूर पिलाना चाहिए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो राहु (Rahu) सक्रिय होकर बुरे प्रभाव देना प्रारंभ कर देगा। इससे घर में अचानक कोई संकट आ खड़ा होता है।

4. पौधों की देखभाल नहीं करना : कई लोगों की आदत होती है कि वे अपने घर या आंगन में पौधे तो लगा देते हैं लेकिन उनकी उचित देखभाल नहीं करते हैं। घर के पौधे आपके अपने परिवार के सदस्यों जैसे ही होते हैं, उन्हें भी प्यार और थोड़ी देखभाल की आवश्यकता होती है। पौधों को सुबह, शाम उचित मात्रा में पानी दिया जाता है तो इससे सूर्य (Surya), बुध (Budh) और चंद्र (Chandra) संबंधी परेशानियां हट जाती हैं। तनाव मुक्त जीवन प्राप्त होता है।

आशा है ज्योतिष की इन खराब आदतों (Jyotish bad habits) को आप जान चुके होगें और इन खराब आदतों (Jyotish bad habits) को छोड भी देंगे।

 

Prabhu Darshan- 100 से अधिक आरतीयाँचालीसायें, दैनिक नित्य कर्म विधि जैसे- प्रातः स्मरण मंत्र, शौच विधि, दातुन विधि, स्नान विधि, दैनिक पूजा विधि, त्यौहार पूजन विधि आदि, आराध्य देवी-देवतओ की स्तुति, मंत्र और पूजा विधि, सम्पूर्ण दुर्गासप्तशती, गीता का सार, व्रत कथायें एवं व्रत विधि, हिंदू पंचांग पर आधारित तिथियों, व्रत-त्योहारों जैसे हिंदू धर्म-कर्म की जानकारियों के लिए अभी डाउनलोड करें प्रभु दर्शन ऐप।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *