जामुन खाने के फायदे और नुकसान Jamun Khane ke Fayde aur Nuksan in Hindi

जामुन खाने के फायदे और नुकसान || Jamun Khane ke Fayde aur Nuksan in Hindi

स्वास्थ्य

मीठे रस से भरा काला जामुन (Jamun) गर्मी के मौसम (Summer Season) में हर किसी को पसंद आता है। काला जामुन (Jamun) जितना अपने मीठे स्वाद के लिए जाना जाता है, उसके औषधीय गुणों (Medicinal properties) को लेकर भी ये लोगों के बीच चर्चा में रहता है। ना सिर्फ काला जामुन, बल्कि इसकी पत्ती, पेड़ की छाल, जामुन के बीच कई तरह से रोगों के में काम आते है। जामुन में पाए जाने वाले एंटी डायबिटीक (Anti diabetic), एंटी इंफ्लेमेंट्री (Anti inflammatory) और एंटी ओक्सीडेंट गुण (Anti oxidant properties) कई तरह की बीमारियों के साथ ही गंभीर बीमारी के संक्रमण से भी बचाते है। विशेषज्ञों की माने तो एनीमिया और डायबिटीज (Anemia and diabetes) के मरीजों के लिए जामुन रामबाण से कम नहीं, एक कप जामुन में सिर्फ 20 से 25 ग्राम ही कैलोरी (calories) पाई जाती है। जामुन बल्ड में शुगर लेवल (sugar level) को कम कर उसे कंट्रोल करने में काफी मदद करता है। जामुन के शुगर को कंट्रोल (Sugar Control) करने के सिवा और भी कई फायदे है, आइए जाने किस तरह से जामुन खाने के फायदे और नुकसान ( Jamun Khane ke Fayde aur Nuksan in Hindi).

ये भी पढें-  कटहल के फायदे और नुकसान || Kathal (Jackfruit) Benefits and Side Effects in Hindi

Table of Contents

जामुन खाने के फायदे || Jamun Khane ke Fayde in Hindi

जामुन खाने के निम्न लिखित फायदे है।

दांतों के दर्द से काला जामुन देता है निजात (Black Jamun gives relief from toothache)

काला जामुन (Jamun) के कई फायदे होते है, जिसमें से एक ये दांतों के दर्द (toothache) में आराम देने का काम करता है। अगर आप दांतों और मसूड़ों (teeth and gums) के दर्द से परेशान है और इन्हें मजबूत करना चाहते है तो जामुन के पत्तों की राख बनाकर उपयोग करना चाहिए। वहीं अगर पायरिया (Payriya) की शिकायत है तो जामुन के रस से कुल्ला करने पर ये शिकायत भी दूर हो जाएगी।

पीलिया में जामुन खाने के कई फायदे है (There are many benefits of eating Jamun in jaundice)

पीलिया (Jaundice) एक गंभीर बीमारी है। पीलिया (Jaundice) को अगर सही समय पर कंट्रोल ना किया जाए तो ये जान के लिए खरतनाक हो सकती है। पीलिया (Jaundice) में कई तरह के परहेज डॉक्टर द्वारा बताए जाते है जिसमें उबला खाना, फल का सेवन, ठंड़ी चीजों को खाना बताया जाता है। वहीं पीलिया में जामुन (Jamun) का सेवन मरीज को काफी फायदा पहुंचा सकता है। अगर 10 से 15 जामुन का रस शहद में मिलाकर पिया जाए तो इससे पीलिया के असर को कम किया जा सकता है। इसके साथ ही ऐसा करने से खून की कमी को भी दूर किया जा सकता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए काले जामुन है रामबाण (Black Jamun are beneficial for diabetic patients)

जब लोगों के शरीर में खून का लेवल अनियंत्रित (Blood level uncontrolled) होने लगता है तब उनके ऊपर मधुमेह यानि की डायबिटीज (Diabetes) का खतरा बढ़ने लगता है। बॉडी में शुगर लेवल (Sugar Level) तब बढ़ता है जब हम स्ट्रैस, अस्वस्थ जीवनशैली और सही समय पर अपने खान पान का ध्यान नहीं दे पाते। कई मुधमेह के मरीजों को लगता है कि फल उनकी सेहत के लिए ठीक नहीं। लेकिन मौसमी फल यानि की काला जामुन डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण से कम नहीं है। अगर मधुमेह का मरीज 100 ग्राम जामुन की जड़ को साफ कर उसे 250 मिली पानी मिलाकर पीसता है और इस मिश्रण को 20 ग्राम मिश्री डालकर इसका सेवन रोज सुबह करता है तो इससे काफी फायदा होता है।

पथरी के इलाज में होता है काले जामुन का उपयोग (Black Jamun are beneficial for Kidney stones)

पथरी (Kidney  Stone) होने पर मरीज को कफी दर्द सेहना पड़ता है। किडनी में पथरी काफी आम बात हो गई है, लेकिन इसका दर्द काफी खतरनाक होता है। किड़नी में पथरी होने के कई कारण होते है, जिसमें से एक कारण पानी का कम पीना माना जाता है। गैरतलब है कि काला जामुन (Jamun) खाने से छोटे साइज की पथरी गल जाती है।अगर सही तरह से जामुन का सेवन किया जाए तो ये पथरी के लिए काफी फायदा करती है। सही तरीके से जामुन का सेवन करने के लिए 10 मिली जामुन को रस को 250 ग्राम सेंधा नमक में मिलाकर रख दे और इसके दिन में कम से कम 2 से 3 बार पिएं। ऐसा करने से पथरी टूट कर यूरीन (urine) करते वक्त बाहर निकल जाएगी।

गैस की समस्या को दूर करने के लिए जामुन का करना चाहिए सेवन (Jamun should be remove the problem of gas)

आज कल की भाग दौड़ से भरी जिंदगी में गैस की समस्या (Gas problem) काफी आम हो गई है। गैस (Gastric), अपच (Indigestion), कब्ज (Constipation) इन पेट से संबधी समस्याओं से कोई ना कोई जूझ ही रहा है। अगर पैट से जुड़ी इन समस्याओं से आप निजात पाना चाहते है तो आप जामुन (Jamun) का उपयोग कर सकते है। इसके लिए आपको जामुन के पेड़ की छाल और इसकी गुठली का उपयोग कर सकते है।

आंखों के लिए फायदा करता है जामुन (Jamun benefits for eyes)

अगर आप आंखे से जुड़ी समस्याओं से जूझ रहे है तो जामुन आपके लिए फायदेंमंद साबित हो सकता है। जामुन (Jamun) के बीज को सुखा कर उसे पीस ले। पिसे हुए मिश्रण को शहद में मिला कर इनकी तीन तीन ग्राम की गोलियां तैयार कर ले। फिर रोजाना 1-2 गोलियों का सेवन करे इससे मोतियाबिंद (Cataracts) की समस्या से निजात मिलेगा।

साफ चेहरे के लिए करें जामुन का इस तरह उपयोग, मिलेगी ऑयली स्किन से राहत (Use Jamun for a clean face, you will get relief from oily skin)

जामुन (Jamun) ना केवल सेहत के लिए बल्कि चेहरे के लिए भी बहुत फायदा करती है। अगर आप चेहरे पर दाग धब्बों, मुहांसे (Pimples) से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसके लिए जामुन का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप जामुन की गुठली हटाकर इसका रस निकाल ले, जिसमें कम से कम 7 से 8 बूंद शहद मिलाकर दोनों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें। अब इस मिश्रण को कॉटन की मदद से अपने चेहरे पर लगा लें। 15 मिनट तक इसे चेहरे पर ऐसे ही रहने दें फिर पानी से धो लें। वहीं अगर आप ऑयली स्किन (Oily skin) से परेशान है तो इसके लिए भी जामुन का उपयोग कर सकते हैं। जिसके लिए 7  से 8  जामुन का रस निकालकर इसमें 8  से 10 बूंद चावल का पानी और 8 से ही 10 बूंद आंवले का रस मिला लें। इसको अच्छी तरह से मिक्स कर ले फिर कॉटन के जरिए इसे चेहरे पर लगाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर 20 मिनट तक रहने दें और फिर इससे पानी से धो ले।

जामुन का हेयर मास्क बालों की सुंदरता में लगाएगा चार चांद (Jamun hair mask will add to the beauty of hair)

बालों के लिए जामुन बहुत उपयोगी माना जाता हैं। यदि आप बालों की रूखेपन (Hair dryness), रूसी (Dandruff) और ग्रोथ (Hair growth) ना बढ़ने के कारण परेशान है और अपने बालों को सुंदर चमकीला और मज़बूत बनाना चाहते हैं तो इसके लिए जामुन की गुठली का उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए गुठली को सीधे बालों पर इस्तेमाल नहीं करना है, बल्कि इसका एक हेयर मास्क तैयार किया जा सकता है, जिसके लिए जामुन की चार से पांच गुटली को लेकर पहले सुखा लें फिर इन्हें महीन पीस लें और इनका पाउडर बना लें। अगर जामुन की गुठली को पीसना संभव नहीं है तो मार्केट में गुठली का पाउडर आसानी से मिल जाता है, तो उसे खरीदें। अब जामुन का हेयर मास्क बनाने के लिए चार से पांच चम्मच मेहंदी में डालें, फिर एक चम्मच दही और एक चम्मच शहद इसमें मिलाएं और गुठली का पाउडर भी एक चम्मच ही लें। इन सभी चीजों को अच्छे से मिला लें और इसका एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह से लगा ले और 2 घंटे तक ऐसे ही रहने दें। फिर बालों को माइल्ड शैंपू के साथ अच्छें से धो लें।

जामुन खाने के नुकसान || Jamun Khane ke Nuksan in Hindi

जितना जामुन सेहत के लिए फायदेमंद है जामुन को सही तरीके से नहीं खाया जाए तो वह उतना ही शरीर पर हानि भी पहुंचा सकता है जामुन खाने के फायदे होते हैं लेकिन कुछ नुकसान भी होते हैं जिनके बारे में हम आपको अवगत कराने जा रहे हैं।

गर्भवती महिलाओं को नही करना चाहिए जामुन का सेवन (Pregnant women should not eat Jamun)

जो महिलाएं बच्चों (breastfeeding) को दूध पिलाते हैं वह जामुन का सेवन उन्हें नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं (pregnant women) को भी जामुन का सेवन नहीं करना चाहिए।

खाली पेट जामुन खाने से हो सकती है उल्टी की समस्या (Eating Jamun on an empty stomach can cause vomiting)

वही खाली पेट कभी जामुन को नहीं खाना चाहिए और खाली पेट जामुन खा कर जरा भी पानी पी लिया जाए तो उल्टी की शिकायत (Vomiting complaints) आ सकती है। कभी भी दूध पीने के बाद जामुन का सेवन नहीं करना चाहिए यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इसके साथ ही यह फेफड़ों (lungs) पर भी हानिकारक साबित हो सकता है। ज्यादा मात्रा में जामुन (Jamun) खाना खतरनाक भी हो सकता है इसके साथ ही है सीने के लिए भी हानिकारक हो सकता है।

ये भी पढें-  Healthy Diet Tips : सुबह बासी मुंह इन 6 चीजों का करें सेवन, शरीर रहेगा रोग मुक्त

Disclaimer- ऊपर खबर में दी गई जानकारियां सामान्य रिसर्च और अध्ययन पर आधारित है, इसकी पुष्टी NewsHeights.com नहीं करता है, इसको अमल में लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *