COVID-19: क्या कोरोना के इस समय में IPL जैसे Tournament करवाना सही है ?

COVID-19 के आज के इस दौर में बच्चो के स्कूल कॉलेज बंद करके एवं उनके परीक्षा postpone करके जहाँ एक तरफ हम COVID-19 के प्रकोप को कम करने की कोशिश में है तो वही दूसरी तरफ IPL या सरकारी रैलियां करके कोरोना को वापस से बुला रहे है। हमारे देश की हालत COVID-19 के वजह से वैसे ही बहुत खराब हो रखी है, एक दिन में अब लाखों में cases रिकार्ड हो रहे है। अब तो COVID-19 के 3rd generation mutant का भी आगमन हो गया है। देश में नही चाहते हुए भी Lockdown वाली परिस्थिति वापस से आ रही है। राजधानी दिल्ली में lockdown को वापस से extend कर दिया गया है।

रोज लाखों मे केस पाए जाने के वजह से अस्पतालों में जगह नही बची है। एक बेड में दो-दो मरीजों का साथ में इलाज हो रहा है। Oxygen की supply में दिक्कत आ रही है। कई foreign nations ने तो भारत के विमानों को temporary रद्द कर दिया है। Bangladesh ने भारत से लगी सीमाओं को seal कर दिया है। अमेरिका, सउदी अरब, पाकिस्तान, फ्रांस, चीन, इरान अन्य अनेक देश भारत की मदद करने को आगे आये है।

इसे भी पढें-  Corona की महामारी से बचाएगा Nasal Spray, जानिए इसकी खासियत

ऐसी स्थिति में IPL का होना ठीक है?

जहाँ एक तरफ देश COVID-19 के प्रकोप से जूझ रहा है, मजदूर अपने घर को वापस जाने के लिए मजबूर है जिससे की पिछली बार की तरह वे फँस न जाए। जहाँ एक तरफ सरकार, डॉक्टर सभी घरों में रहने के लिए वीनती कर रहे है, बिना किसी वजह घरो से बाहर निकलने के लिए मना कर रहे है ऐसे में दूसरी तरफ IPL जैसे tournament खिलाया जा रहा है।

क्या IPL इतना जरूरी था कि इसे करवाना जरूरी हो गया?

पीछले वर्ष COVID-19 के वजह से IPL एवं अन्य tournament रद्द करने पङे थे, COVID-19 के ही वजह से last year IPL देर से शुरू हुआ था। लेकिन इस वर्ष ऐसा क्या हुआ की इस pandemic के इतने challenge से भरे समय में भी इसे postpone करना किसी ने जरूरी नहीं समझा। यहाँ तक की बच्चों के परीक्षा तक postpone कर दिए गए है, COVID-19 के बढते केस को देख कर स्कूल कॉलेज सब बंद कर दिए गए है। कई ऑफिसों में भी फिर से Work From Home (WFH) की सुविधा अपने employees को दी है। ऐसे में IPL को continue करना कहाँ से समझदारी हो रही है? IPL में विदेशी खिलाङी भी जम कर हिस्सा लेते है, यहाँ हम अपने ही लोगों का इलाज नही कर पा रहे तो दूसरो का कहाँ से ही करेगे।

अभी हाल फिलहाल में ही तीन Australian खिलाङी IPL को बीच में ही छोङ कर अपने देश रवाना हो गये। यहीं नहीं Indian bowler आर. अश्विन ने भी IPL को बीच में छोङते हुए कहा की मैं IPL से कल से ब्रेक ले रहा हूँ, मेरा परिवार COVID-19 के खिलाफ संघर्ष कर रहे है और मैं इन कठिन समय में अपने परिवार का साथ देना चाहता हूँ। अगर चीजें control में रही तो मैं वापस मैदान में उतरने की उम्मीद करता हूँ। यह कहने के बाद अश्विन ने अपने IPL के team Delhi Capitals को शुक्रिया भी कहा।

इसे भी पढें-  Corona संक्रमण: क्या कोर्ट के ‘हंटर’ से चलेगा देश का तंत्र?

जहाँ एक तरफ देश इतने बङे pandemic के शिकंज में है वहाँ ऐसे IPL जैसे tournament करवा कर हम देश की जनता को COVID-19 के मुँह में फेक रहे है। भले ही आप close door में मैच रखते है फिर भी मैदान मे सारे खिलाङी साथ ही होते है। अभी तो बस अपनों से भी social distancing को maintain करके रखने का समय है जिससे हम भी स्वस्थ रहे और हमारे परिजन भी। सरकार ने जैसे school, college बंद कर दिया है exam रद्द कर दिए है वैसे ही जब तक condition ठीक नहीं हो जाता तब तक के लिए ऐसे tournaments नही करवाना चाहिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *