क्या आप चाहते है Depression से मुक्त होना ? इन टिप्स के सहारे डिप्रेशन को करे दूर

देश और दुनिया में कोरोना वायरस (corona virus) ने हाहाकार मचा दिया है। आए दिन कोरोना से संक्रमित होने वाले लोगों के आकंड़ों (corona virus infected cases) में इजाफा देखने को मिल रहा है, इसके साथ ही कोरोना से हो रही मौते (death due to corona virus) भी रिकार्ड तोड़ रही है। वहीं कोरोना ना सिर्फ सेहत (health) के लिए हानिकारक है बल्कि इसका मेंटल हेल्थ (mental health) पर भी काफी प्रभाव पड़ रहा है। कोरोना के इस दौर में आए दिन लोग डिप्रेशन (Depression) का शिकार हो रहे हैं। डिप्रेशन हेल्पलाइन नंबर (Depression Help Line no.) पर इस महामारी के कारण इतने कॉल आ चुके हैं कि इसका आंकड़ा अब 500 फीसदी पार कर चुका है। यह बात कोई नहीं झुठला सकता है कि लोग इस कोरोना के दौर में डिप्रेशन (Depression) के चलते भी काल के गाल में समा रहे हैं। कोरोना का डर लोगों में कुछ इस तरह घर कर रहा है कि लोग इसके खिलाफ जंग हारते जा रहे है।

इसे भी पढें-   नीम के पत्ते चबाने के फायदे || Benefits of Neem Leaves in Hindi

बढ़ कहे डिप्रेशन (Depression) के मामले, ये सारे रीजन के चलते लोग हो रहे डिप्रेशन का शिकार

वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु कुछ गाइडलाइंस (Corona Guidelines) जारी की गई है, जिसमें से एक सामाजिक दूरी (Social Distancing) बनाए और लोगों से घर में रहने की अपील (Stay Home) की जा रही है, जिसके चलते लोगों के बीच मेलजोल में कमी देखने को मिल रही है और यह भी एक बड़ा रीजन है जिसके कारण लोगों में तनाव (Stress) देखा जा रहा है। कोरोना के चलते आए दिन कोई ना कोई नई पाबंदियां लगाई जा रही है जिससे जिंदगी पर काफी प्रभाव पड़ा है और लोगों में चिंता तनाव और अवसाद की शिकायत देखने को मिल रही है। बहुत समय से लोगों की अपने परिवार के बीच रहने की आदत छुट गई थी, लेकिन एकदम से कोरोनावायरस (Corona Virus) के चलते लोग अपने परिवार के साथ रहने पर मजबूर हैं, जिसके चलते वह घुटन का शिकार हो रहे हैं, क्योंकि वह खुलकर किसी से बात नहीं कर पा रहे हैं। जो बातें वह बाहर निकल कर अपने दोस्तों से मिलकर कर लेते थे और उससे उनका मन हल्का कर लेते थे, वह नहीं हो पा रहा है जिसके कारण भी लोग डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं। कोरोना वायरस ने डिप्रेशन के कारणों में बढ़ोतरी लाने का काम किया है। कोरोना के कारण लोग अपनों को खो रहे हैं, लोगों की जॉब जा रही हैं, आर्थिक समस्या (Financial Crises) से जूझना पड़ रहा है इसके साथ ही कुछ प्यार में धोखा खा रहे हैं, शादियां नहीं चल पा रहे हैं, रिश्ते संभालने में असमर्थ हो रहे हैं और भी कई रीजन है जिसके वजह से लोग डिप्रेशन का शिकार हो रहे है।

जाने डिप्रेशन से खुद को बचाने के Tips, खुद को डिप्रेशन से कैसे निकाले || (How to remove depression in hindi)

डिप्रेशन में इंसान अपने आप को एकांत कर लेता है ना वह किसी से बात करना पसंद करता है और ना किसी से घुलना मिलना और इस डिप्रेशन के कारण उनके हेल्थ पर काफी ज्यादा असर पड़ता है। वहीं हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने आप को और अपने चाहने वालों को डिप्रेशन से मुक्त कर सकते हैं क्योंकि अवसाद में भी खुद को खुश करना संभव है लेकिन कुछ खास काम करने होते हैं।

डिप्रेशन के बाहर निकलने की इच्छाशक्ति को करें मजबूत, साथ ही तैयार करें अपना स्पोर्ट सिस्टम (Support System)

डिप्रेशन से बाहर निकलने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि आपके अंदर इससे निकलने की इच्छाशक्ति (willpower) हो। आपको अपनी मदद खुद करनी होगी। मनोचिकित्सक (Psychiatrist) द्वारा दी गई दवा और इलाज एक हद तक आपको ठीक कर सकते हैं लेकिन अगर आप खुद ही मन में डिप्रेशन को बैठा कर रखे हैं और उसे ठीक नहीं होना चाहते तो आपकी कोई मदद नहीं कर सकता, इसलिए आपको खुद ही यह निश्चय करना होगा कि आप डिप्रेशन से निकलना चाहते हैं। इसके साथ ही आपको एक सामाजिक सपोर्ट सिस्टम (Social Support System) भी तैयार करना होगा। इसका मतलब होता है कि आप अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों के साथ एक अच्छा और मजबूत संबंध बनाए (Maintaining health Relations) रखें। सपोर्ट सिस्टम के जरिए आप अपने दिल की बात उन्हें बता सकते हैं और अपना मन हल्का कर सकते हैं, जिससे आपको रिलैक्स फील होगा और आप डिप्रेशन से बाहर निकलने में सक्षम होंगे।

अच्छी और पर्याप्त नींद करती के मूड अच्छा और डिप्रेशन को करती है कम

एक अच्छी नींद (sleep) एक अच्छे मूड को दर्शाता है। अगर आपकी नींद पूरी होती है तो आपका उस दिन मूड (mood) भी अच्छा होता है। 2014 की स्टडी में भी पाया गया है कि जो भी लोग डिप्रेशन का शिकार है उसमें से 80 फ़ीसदी लोग अच्छे से नींद नहीं ले पा रहे हैं। डिप्रेशन के दौर में आपको ऐसा महसूस होता है कि आप सो नहीं सकते हैं या फिर आप इतनी थकावट महसूस (Feeling tired) करते हैं कि आप को बिस्तर से भी बाहर निकलना एक संघर्ष लगता है। ऐसे में आप यह कर सकते हैं कि आप अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप या किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को बेड पर जाने से 1 घंटे पहले ही बंद कर दें और सोने से पहले कोई अच्छी किताब पढ़ें या कोई ऐसी एक्टिविटी करें जिससे आपको आराम मिल सके जिसके चलते आप अच्छे से सो सकें।

डिप्रेशन को हराने के लिए पोषण भरा भोजन है जरुरी

अगर डिप्रेशन को दूर भगाना है तो एक अच्छी डाइट का पालन करना बहुत जरूरी है। कई स्टडीज में माना गया है कि एक अच्छे पोषण के आधार पर मानसिक बीमारियों पर बैरिगेट्स का काम करता है। ऐसा कहा जाता है कि जैसा हम खाते हैं वैसा हम सोचते हैं। काफी हद तक आप अपने डिप्रेशन को खाने की आदत से सुधार सकते हैं। आप जितना अच्छा और पौष्टिक भोजन (nutritious food) खाएंगे आपके अंदर से उतनी ही सकारात्मक ऊर्जा (positive energy) का प्रवाह होगा।

नेगेटिव उर्जा को दूर करने के लिए करते रहे कोई ना कोई एक्टिविटी

जब इंसान डिप्रेशन में होता है तो उसके दिमाग में कई तरह की विचारधारा बहती है और ज्यादातर वह नेगेटिव (Negative) ही होती है। डिप्रेशन आप को अकेला और बुरा ही फील नहीं करा था बल्कि आपके अंदर नेगेटिव विचारों (Negative Thoughts) को भी जन्म देता है। इन नेगेटिव विचारों से उबरने के लिए आप एक अच्छी और पॉजिटिव बुक्स का सहारा ले सकते हैं। कोई ऐसे एप्लीकेशन (Application) या ऑनलाइन पाठ्यक्रम (Online Classes) से जुड़ सकते हैं जो आपकी मन में उत्पन्न हो रही नेगेटिव सोच को रोकने में सहायता कर सकें।

टालमटोल करने की आदत को करें कम

अगर आप डिप्रेशन का शिकार है तो सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप बात को टालमटोल ना करें, क्योंकि अक्सर ऐसा देखा जाता है थकान और फोकस सेट करने में कठिनाई होने के चलते लोग बात को टालने की कोशिश करते हैं पर आपको ऐसा करना नहीं चाहिए। ना सिर्फ बात को टाल मटोल करें बल्कि कुछ लक्ष्य भी ऐसे बनाएं जिन को पाने के लिए आप कड़ी मेहनत करते रहे क्य़ोंकि डिप्रेशन में अक्सर यह देखा जाता है कि हम बात के साथ-साथ अपने लक्ष्य को भी टालते हैं जो कि नहीं करना चाहिए। लक्ष्य को स्थापित करने से यह फायदा होता है कि हमारा ध्यान भटकता नहीं है और हम डिप्रेशन से कुछ समय के लिए अपने आप को दूर कर पाते हैं, साथ ही ये मन में नेगेटिव सोच को रोकने का काम करता है।

इसे भी पढें-    Chocolate खाओ और सारी समस्याओं से निजात पाओ || चॉकलेट खाने के फायदे

लो फील होने पर करें खुद को व्यस्थ, साथ ही ले इन टूल्स की मदद

जब हम डिप्रेशन का शिकार होते हैं तब हमारे लिए कोई भी काम करना मुश्किल सा लगता है या हमारा मन नहीं लगता है। अपने ध्यान को एक ओर से दूसरी ओर ले जाने के लिए हमें काम करते रहना चाहिए। जैसे कि कुकिंग करना चाहिए, या पेड़ों में पानी दे। इसके साथ ही आप ध्यान रखे कि आप गंदे खाने का ढेर, कागजों का ढेर, कपड़ों का ढेर ना लगने दे क्योंकि इससे नेगेटिविटी फैलती है। सुबह जल्दी उठना और उत्साह के साथ काम करना आपको अच्छा महसूस कराने के लिए कार्य करता है। जब आप काफी ज्यादा लो फील कर रहे हैं या फिर आपका मन अशांत है तो इस समय में आपको एक बैलेंस टूलबॉक्स का सेट काफी मदद पहुंचा सकता है, जिसे आप अच्छा फील कर सकते हैं, जैसे कि आप पालतू जानवरों को पाल सकते हैं, उनका ध्यान रख सकते हैं या कोई अपने पसंदीदा म्यूजिक सुन सकते हैं। हॉट बाथ लेने से भी काफी फायदा पहुंचता है यह सभी चीज आपको डिप्रेशन से निकलने में मदद करती है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *