Curry Leaves Benefits : क्या आपको पता है करी पत्ता में सेहत के साथ पाएं जाते है खूबसूरती के भी गुण

करी पत्ता ( curry leave) जिसे मीठी नीम के नाम से भी जाना जाता है। करी पत्ते को सब्जी में डालने से सब्जी के स्वाद में तो चार चांद लग ही जाते हैं। इसके साथ ही सेहत के लिहाज से भी ये बहुत फायदा करता है। करी पत्ते को गृहणियां अलग अलग व्यंजन जैसे कि पोहा, पुलाव, सांभर, साउथ इंडियन डिशेज में इस्तेमाल करती हैं। इस का पेड़ किसी के भी घर में आसानी से मिल जाता है, इसके साथ ही ये आसानी से लगने वाला पौधा होता है। करी पत्ता ब्लड प्रेशर (Blood Pressure), एनीमिया (anemia), कब्ज (Constipation) जैसी बीमारी के साथ ही फैटी लीवर (Fatty Liver) के खतरे को भी कम करने में बहुत इस्तेमाल किया जाता है। खूबसूरती के लिहाज (Beauty tips) से भी इसके गुण बहुत फायदेमंद होते हैं। दरअसल करी पत्ता फाइबर (fiber), प्रोटीन (protein), विटामिन ए,बी,सी (Vitamin A,B,C ) और आयरन (Iron) से भरपूर होता है, जो आपको कई बीमारियों से बचाने में उपयोगी होता है। यह इम्यूनिटी (Immunity) के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है।

इसे भी पढें-   गिलोय शरीर को किन किन रोगो से बचाता है || Benefits of Giloy

करी पत्ते के फायदे (Benefits of Curry Leaves in hindi)

  • इम्यूनिटी बढ़ाने और पेट की समस्या से निजात दिलाने के काम आता है करी पत्ता

एंटी बैक्टीरियल (Anti bacterial), एंटी ऑक्सीडेंट (anti oxidant) और एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुण होने के कारण करी पत्ता अगर सुबह खाली पेट खाया जाए तो यह इम्यूनिटी को मजबूत (Immunity  Strong) करने का काम करता है। इसके साथ ही तुलसी के पत्तों (Basil leaves) के साथ करी पत्ते को मिलाकर पेस्ट भी बनाकर सेवन किया जा सकता है, उसके लिए आपको तीन से चार तुलसी के पत्ते और 3 से ही 4 कड़ी पत्ते को सिलबट्टे पर अच्छी तरह पीसना होगा। इस पेस्ट में एक चम्मच शहद (honey) मिलाकर अगर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन किया जाता है तो यह रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी की इम्युनिटी को मजबूत करता है, इसके साथ ही आपके ऊपर कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona Virus infection) का खतरा भी काफी कम हो जाता है। इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही अगर करी पत्ते के रस को एक चम्मच नींबू (Lemon) के रस और चुटकी भर गुड़ (jaggery) मिलाकर खाया जाए तो इससे जी मिचलाना और उल्टी (Nausea and Vomiting) की समस्या से निजात मिलता है। इसके साथ ही करी पत्ता डायरिया (Diarrhea) या पेट खराब होने की समस्या से भी आपको आराम दिलाता है

  • स्किन प्रॉबल्म और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है करी पत्ता

अगर शरीर में कहीं चोट लग गई है या त्वचा पर खुजली हो रही है या फिर चेहरे पर मुंहासे (pimples) निकल आए हैं या स्किन बर्न हो रही है तो इसमें भी करी पत्ते की मदद ली जा सकती है। करी पत्ता एंटीसेप्टिक (Antiseptic) होता है, जिसके चलते अगर इसे पानी में मिलाकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर या चोट पर लगाया जाए तो काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही अगर सुबह खाली पेट रोज 5-6 कड़ी पत्ता चबाएं तो आपको कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मदद मिलती है और वजन भी घटता है। करी पत्ता एक्स्ट्रा फैट बर्न करने में काफी कारगर है।

  • मोतियाबिंद और शुगर को करता है कंट्रोल 

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी करी पत्ता बहुत मददगार होता है। करी पत्ता में विटामिन ए (Vitamin A) पाया जाता है जिससे मोतियाबिंद (cataracts) की समस्या दूर होती है और आंखों के लिए फायदेमन्द मानी जाती है।इसके साथ ही रोजाना अगर करी पत्ते का इस्तेमाल किया जाए तो यह शुगर लेवल को कंट्रोल (Sugar level control) करने में भी काफी कारगर माना जाता है। करी पत्ता फूड में मौजूद स्टार्च (Starch) को ग्लूकोज (Glucose) में बदलने का काम करता है, जिससे शुगर लेवल की मात्रा कंट्रोल रहती है। ऐसा माना जाता है कि इंसुलिन (insulin) बनाने की प्रक्रिया में करी पत्ता प्राकृतिक तौर पर काफी मददगार साबित होता है।

  • बालो के लिए वरदान से कम नहीं करी पत्ता, इस तरह करें बालों पर यूज

ना सिर्फ स्वास्थ्य के लिए बल्कि बालों (hairs) के लिए भी करी पत्ता काफी फायदेमंद माना जाता है। आज के इस आधुनिक दौर में हर कोई बालों के सफेद (Graying of hairs) होने की समस्या से जूझ रहा है। करी पत्ता बालों के लिए काफी फायदेमंद बताया गया है। करी पत्ते का इस्तेमाल करने से बालों को सफेद होने से बचाया जा सकता है इसके साथ ही केमिकल से भरपूर शैंपू और कंडीशनर से हुए नुकसान को भी रोका जा सकता है। दरअसल करी पत्ता फॉस्फोरस (phosphorous) कैल्शियम (Calcium) आयरन (Iron) विटामिन सी (Vitamin C) भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो बालों की वृद्धि के लिए बहुत कारगर साबित होता है और बालों को गिरने (hair fall) में रोकने में काफी सहायता करता है। करी पत्ता को नारियल के तेल (Coconut Oil) में डालकर उसे अच्छी तरह पका लें जैसे ही पत्ते भूरे रंग के होने लगे तो गैस बंद कर दें और तेल को ठंडा कर लें इस तेल को हफ्ते में कम से कम 3 बार लगाया। 1 दिन के भीतर ही आपको चौंकाने वाले नतीजे मिलेंगे। इसके साथ ही करी पत्ते का हेयर मास्क (Hair Mask) भी बनाया जा सकता है,करी पति को पीसकर उसे दही में मिला दें और इस मास्क को बालों पर लगाएं इससे भी काफी फायदा होता है।

इसे भी पढें-    Aloe Vera: जानिए शरीर के लिए कितना फायदेमंद है

  • फैटी लीवर से पाना है निजात, डाइट में शामिल करें करी पत्ता

वहीं जब लीवर सेल्स (Liver Cells) में फैट (Fat) की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो वह फैटी लीवर (Fatty Leaver) की समस्या को जन्म देती है। लीवर ना सिर्फ खाना पचाने का कार्य करता है बल्कि खून से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालता है। लीवर (Liver) शरीर का दूसरा अंग भी माना जाता है, लेकिन अगर इस में फैट की मात्रा बढ़ जाती है तो इसकी कार्य क्षमता घट जाती है जो सेहत पर बहुत बुरा असर डालती है। करी पत्ता में विटामिन ए और सी (Vitamin A and C) भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो लिवर से जुड़ी समस्याओं के खतरे को कम करता है। इसके साथ ही फैटी लीवर (Fatty Liver) में भी मीठी नीम फायदेमंद मानी जाती है इसमें एंटी फंगल (Anti Fungal) एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidant) और एंटीबैक्टीरियल (Anti Bacterial) गुण होते हैं जो लीवर की समस्या से छुटकारा दिलाती है। करी पत्ता का पर्याप्त रूप से सेवन करने पर लीवर के आसपास जमा हुआ फैट कम हो जाता है साथ ही कमजोर लीवर को मजबूत करने में करी पत्ता बहुत मदद करता है। 10 से 12 करी पत्ते की पत्तियां को पानी से धोएं जिसके बाद एक कप पानी में इन पत्तियों को अच्छी तरह से पीस लें। मिश्रण को छलनी की मदद से छानकर एक गिलास में निकाल ले। हेल्थ एक्सपर्ट्स (Health Experts) कहते हैं की करी पत्ता ड्रिंक का सेवन करने से लिवर हेल्दी होता है

Note- ऊपर दी गई जानकारियों की सत्यता की www.newsheights.com पुष्टी नहीं करता है, इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह मश्वरा लेना ना भूलें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *