गिलोय शरीर को किन किन रोगो से बचाता है || Benefits of Giloy

गिलोय आजकल काफी प्रचलित हो रही है, कोरोना के इस भयंकर दौर में गिलोय काफी famous हुआ है। वैसे तो यह जंगलो मे झाङियों में पाई जाती है। यह कहना गलत नही है कि प्राचीन कई वर्षो से गिलोय का इस्तेमाल औषधि बनाने के रूप में की जाती है। अब तो लोग इसे अपने घरो मे भी लगाने लगे है। गिलोय दिखने में पान के पत्ते जैसा ही होता है और रंग में गाढा हरा होता है।

गिलोय में गिलोइन नामक  पामेरिन, टीनोस्पोरिन, ग्लूकोसाइड एसिड पाया जाता है और इसके अलावा कॉपर, आयरन, फास्फोरस, जिंक, कैल्शिय़म, मैगनीज भी काफी मात्रा में पाया जाता है। इसकी पत्तियां, जङे एवं तना तीनों ही सेहत के लिए काफी गुणकारी होता है। गिलोय में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके अलावा भी गिलोय सेहत के लिए काफी गुणकारी होता है। इस आर्टिकल में गिलोय के फायदे के बारे में बताया जाएगाः

इसे भी पढें-   Chocolate खाओ और सारी समस्याओं से निजात पाओ || चॉकलेट खाने के फायदे

गिलोय के फायदे (Benefits of Giloy):

गिलोय हमारे शरीर को बहुत सारी बीमारीयों से बचाता है। इतना ही नही इन्सुलीन के श्राव को बढाती है और इन्सुलीन रेजिस्टेंस को कम करती है। इसके अलावा भी अनेक कई छोटे बङे बीमारियों में भी मदद करती है जैसे कीः

 

खांसी होने पर गिलोय का उपयोग करे

यदि आपको कई दिनों से खांसी हो रही है और ठीक होने का नाम नही ले रही है तो गिलोय का सेवन करना शुरू कर दीजिए। क्योंकि गिलोय में anti-allergic गुण होने के कारण यह खांसी से जल्द आराम दिलाती है। खांसी को दूर करने के लिए गिलोय के काढे का इस्तेमाल करे।

 

Skin को ठीक रखने के लिए गिलोय का उपयोग करे

गिलोय त्वचा को allergy एवं अन्य रोगो से बचाती है। चेहरे पर निकलने वाले मुहासे, पिंपल्स को दूर करने मे गिलोय का सेवन जरूर करे।

 

लीवर की तमाम परेशानी दूर करने के लिए गिलोय का उपयोग करेः

यदि आप लीवर की परेशानी से गुजर रहे है तो गिलोय का सेवन करना शुरू कर दीजिए क्योकि यह लीवर के लिए टॉनिक का काम करती है। इतना ही नही यह शरीर में खून के स्तर को बढाती है और एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम  के स्तर को बढाती है। गिलोय को शहद के साथ रोज दिन में दो बार लेने से लीवर की तमाम परेशानी से बचे रह सकते है।

 

Immunity बढाने मे मदद करे

शरीर के रोगो को दूर करने के अलावा गिलोय शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढाती है। गिलोय के जूस का रोजाना सेवन करने से शरीर की immunity power बढती है, जिससे सर्दी जुखाम जैसे कई virus से शरीर को बचाता है।

 

पीलिया होने पर गिलोय का सेवन करे

पीलिया होने पर गिलोय से बेहतर औषधि कोई नही है। गिलोय के पत्तो का रस का सेवन करने से पीलिया चुटकी में ठीक हो जाती है और साथ ही साथ पीलिया में होने वाले बदन दर्द, एवं बुखार को भी जल्द ठीक करती है।

 

एनीमिया होने पर गिलोय का सेवन करे

एनीमिया महीलाओं में होने वाली एक common रोग है एक्सर शरीर में खून की कमी होने के वजह से यह होने लगती है। ऐसो में गिलोय को सेवन करना अति आवश्यक है, क्योकि यह शरीर में खून की मात्रा को बढाती है।

 

अस्थमा होने पर गिलोय का सेवन करे

गिलोय मे एंटी-इंफ्लेमेटरी होता है जिससे अस्थमा एवं सांसों से सम्बंधित रोगो से तुरंत आराम मिलती है। यह कफ को नियंत्रित करती है और शरीर में immunity power को बढाती है। अस्थमा से बचने के लिए गिलोय और मुलेठी के चूर्ण को शहद के साथ मिला कर दिन में दो बार खाए, इससे अस्थमा व सांस सम्बन्धित सारी परेशानीयॉ दूर हो जाती है।

इसे भी पढें-   Aloe Vera: जानिए शरीर के लिए कितना फायदेमंद है

गिलोय के सेवन से लगभग सभी रोगो का इलाज सम्भव है, इसलिए इसका निश्चित मात्रा में सेवन जरूर करे। गिलोय का नुक्सान अब तक बहुत कम लोगो में देखने को मिला है लेकिन इसके उपयोग से कोई परेसानी होती है तो तुरंत ही अपने नीजि डॉक्टर से सम्पर्क करे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *