Baby Care Tips in Hindi

Baby Care Tips in Hindi: गर्मियों में बच्चों की देखभाल के लिए अपनाएं ये टिप्स

लाइफस्टाइल

गर्मियां कभी भी किसी के लिए भी आसान नहीं होती हैं, खासकर तब जब साल दर साल दुनिया में लगातार तापमान बढ़ रहे हो। गर्मी में पशु-पक्षी से लेकर इंसान तक हर कोई बेहाल रहता है। धरती मानो आग का गोला बन जाती है। आसमान से आग बरस रही होती है, कहीं पानी की किल्लत तो कहीं लू के थपेड़े। यानी सबसे अधिक कठिनाई का सामना गर्मी में ही करना पड़ता है। बेशक, वयस्क इसे बहुत हद तक झेल लेते हैं, लेकिन ऐसे मौसम में छोटे बच्चों का क्या? वैसे तो बच्चों का ख्याल हर मौसम में रखना जरूरी है, लेकिन खास कर गर्मियों में ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है। शिशुओं की भाषा समझना जितना कठिन है उनकी देखभाल करना उतना ही चुनौतीपूर्ण होता है। तो आज हम इस लेख में बताएंगे की गर्मियों में छोटे बच्चों का ख्याल कैसे रखना चाहिए?

बेबी केयर टिप्स (Baby Care Tips in Hindi)

गर्मियों में बच्चे को कितनी बार नहलाना चाहिए?

यह पूरी तरह से आपके बच्चे और उनकी प्राथमिकताओं पर निर्भर करता है। अगर बच्चे की तासीर गर्मी वाली है, तो आप बच्चे को दो बार नहला सकते हैं सुबह और शाम, लेकिन अगर बच्चे की तासीर सर्दी वाली है, तो आप उसे एक बार ही नहलाए। लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है कि पानी ठंडा नहीं होना चाहिए। न तो यह गर्म होना चाहिए, यह सुनिश्चित करें कि यह गर्मी में एक नवजात शिशु के लिए थोड़ा गर्म या शायद कमरे के तापमान का हो सकता है। यह आपके बच्चे को ठंडा करने के लिए आदर्श है।

इसे भी पडे:-  गर्मियों में ये टिप्स आपकी स्किन को रखेंगे हेल्दी और फ्रेश

गर्मी में बच्चों को ज्यादा दूध की जरूरत होती है

आपने हर जगह यह सुना और पढ़ा होगा कि अपने आप को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखने के लिए आपको गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। वहीं, बच्चों की बात करें तो उनके शरीर में भी गर्म मौसम में पानी जल्दी खत्म हो जाता है और इसलिए उन्हें पर्याप्त और बार-बार पानी देना पड़ता है। हालांकि, 6 महीने से कम उम्र के बच्चों को पीने के लिए सीधे पानी नहीं दिया जा सकता है, इसलिए मां को बच्चे को पहले से ज्यादा स्तनपान कराना चाहिए। नवजात शिशु को एक समान्य दिन में जितनी दूध की आवश्यकता होती है। गर्मी में, आवश्यकता 50 फीसदी बढ़ जाती है। उदाहरण के लिए, अगर 10 पाउंड का बच्चा एक दिन में 20 औंस दूध का सेवन करता है, तो उसे गर्मियों में 30 औंस पिलाना चाहिए। यानी अपने शिशु को हाइड्रेट रखने के लिए उसे थोड़ी-थोड़ी देर में दूध पिलाती रहें।

शिशुओं के लिए सही कपड़े चुनें

गर्मी में धूप से बचाव के लिए बच्चों को हल्के कलर के कपड़े (Fabrics) पहनाएं। ऐसे कपड़े ही चुनें जो उन्हें गर्मियों में आराम दे सके। सिंथेटिक फाइबर जैसे कि नायलॉन, पॉलिएस्टर, रेयान से बने कपड़ों की तुलना में कॉटन के कपड़े पसीना सोखने में अधिक सक्षम होते हैं। हो सके तो पुराने कॉटन कपड़े का ज्यादा इस्तेमाल करें।

हीट रैशेज से बचे

गर्मियों में Baby Care Tips बच्चों को हीट रैशेज होना आम बात हैं। एक्सपर्ट का मानना है कि इसके लिए आप बच्चे के नहाने के पानी में दो चम्मच चंदन पाउडर डाल दें, इससे आपके बच्चे को ठंडा रखने में मदद मिलेगी, नहलाने के बाद उसे टैल्कम पाउडर जरूर लगाएं। अगर बच्चे को असहज महसूस होता है तो गर्मियों में डायपर का इस्तेमान कम करें।

मच्छरों या कीड़े से बचाव

गर्मियों में उड़ने वाले कीड़े, मक्खी, मच्छर घूमते रहते हैं इसलिए आपको इस समय बच्चों को ज्यादा प्रोटेक्शन देने की जरूरत होती है। आप बग स्प्रे का उपयोग कर सकती हैं, लेकिन इस बात ध्यान रहे कि यह ऑर्गनिक होना चाहिए और इससे बच्चे को कोई एलर्जी या किसी भी तरह से नुकसान नहीं होना चाहिए। मच्छरों को अपने घर से दूर रखने के लिए एयर कंडीशनिंग या एयर कूलर को नियमित रूप से साफ करें, 25 डिग्री सेल्सियस का तापमान बच्चे के लिए ठीक है। कोशिश करें बच्चे को मच्छरदानी के अंदर ही सुलाएं।

गर्मियों में बेबी केयर टिप्स (Baby Care Tips in Hindi) बहुत जरूरी है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *