खुदाई के दौरान मिले सोने-चांदी के जेवरात, कीमत लगभग दो करोड़ रुपए

इतिहास में हमने पढ़ा है कि कई बार खुदाई के दौरान कुछ ऐसा मिलता था, जिससे व्यक्ति मालामाल हो जाता था। जिसमें सोने-चांदी के आभूषण और सिक्के शामिल है। वहीं कई बड़ी-बड़ी मूर्तियां भी पाई गई है, जो आज भी अस्तित्व में है। ऐसा ही कुछ अगर किसी आम इंसान के साथ हो जाए, तो उसका भाग्य ही चमक जाएगा। जी हां अगर कोई व्यक्ति जमीन की खुदाई कर रहा हो और उसी दौरान उसे सोने-चांदी से भरा मटका मिल जाए, तो क्या ही कहना। ऐसा ही कुछ हुआ है तेलंगाना के जनगांव जिले में, जहां 1 माह पहले खरीदी गई जमीन की खुदाई करते समय कुछ टन्न की आवाज सुनाई दी। फिर क्या था, वहां खुदाई करने के बाद खजाना निकला है, जो एक मटके में भरा हुआ था। जब उस बेशकीमती आभूषणों का वजन किया गया तब पता चला कि यह सोने-चांदी करीब 5 किलोग्राम का है।

इसे भी पढें- अजब गजब! इस महिला ने प्रेग्नेंट होने के बावजूद दोबारा किया गर्भधारण, बनी जुड़वां बच्चों की मां

खुदाई में सोने-चांदी से भरा मिला मटका

‘जब ऊपर वाला देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है’ इस कहावत को चरितार्थ होते तेलंगाना की जनगांव में देखने को मिला है। जहां खुदाई करते समय एक व्यक्ति को सोने-चांदी से भरा मटका मिला है। जानकारी के अनुसार तेलंगाना के जनगांव में रहने वाले एक व्यक्ति ने 1 महीने पहले की जमीन खरीदी थी। जिस पर उन्होंने उसे सही करवाने के लिए खुदाई शुरू करवाई, तब वहां से सोने-चांदी से भरा मटका मिला। गांव में जैसे कि सोने-चांदी से भरा मटका मिलने की खबर मिली यह पूरे क्षेत्र में फैल गई, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग वहां पहुंचने लगे। यह पूरा खजाना एक तांबे के बर्तन में मिला है। जिसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों को जल्दबाजी में इसकी सूचना दी गई और फिर प्रशासनिक अधिकारियों ने यह पूरा खजाना अपने कब्जे में ले लिया।

तांबे के मटके में मिला खजाना

बता दें कि हैदराबाद के निवासी नरसिम्हा इस जमीन के मालिक हैं, जो एक रियल स्टेट बिजनेसमैन है। जिन्होंने वारंगल को हैदराबाद से जोडने वाली NH-163 के आसपास 11 एकड़ की जमीन खरीदी है। इसी जमीन पर आवासीय काम शुरू करवाने के चलते उन्होंने जमीन पर खुदाई करवाई, इसी दौरान भूमि में करीब 2 फीट तक खुदाई की गई। जहां 1 टन्न की आवाज सुनाई दी। जिसके बाद उस स्थान पर थोड़ी और खुदाई करने के दौरान एक तांबे का मटका मिला। जब उस मटके को बाहर निकाल कर देखा गया कि इसमें क्या है, तब उस मटके में सोने और चांदी के जेवरात मिले, जो बहुत ही कीमती है। जैसे ही यह मटका मिला यह खबर आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गई। फिर क्या था, जमीन मालिक नरसिम्हा ने स्थानीय प्रशासन को इसकी सूचना दी। जो वहां पहुंचकर खुदाई में मिले जेवरात को अपने कब्जे में ले लिया।

इसे भी पढें-  एक ऐसा रहस्यमय मंदिर जहां भगवान को चिठृठी लिखने से होती है सारी मुराद पूरी | Chitai Golu Devta Man

दो करोड़ रुपए आंकी जा रही है खजाने की कीमत

यह खबर जब मीडिया के पास पहुंची, तो पूरी मीडिया वहां पर इकट्ठा हो गई। जिन्होंने जनगांव के सहायक पीठासीन अधिकारी राजेंद्र प्रसाद से बात की। तब राजेंद्र प्रसाद ने मीडिया के समक्ष कहा कि ‘जब उन्हें खजाना मिलने की जानकारी हुई तो उन्होंने खुदाई में मिले सारे खजाने को कलेक्ट्रेट के हवाले कर दिया। इस दौरान यह भी आदेश जारी किया गया कि अगले आदेश तक इस जमीन पर कोई भी खुदाई का कार्य नहीं होगा।‘ खुदाई के दौरान मिले खजाने का वजन करीब 5 किलोग्राम बताया जा रहा है। जिसमें सोने और चांदी दोनों के आभूषण मिले हैं। साथ ही तांबे के बर्तन भी प्राप्त हुए है। इनमें सोने के गहने 189.820 ग्राम वजन के है। वहीं चांदी के आभूषण 1.727 किलोग्राम वजन के मिले हैं। वहीं मिले तांबे के बर्तन की वजन की बात कि जाए तो इसका वजन करीब 1.200 किलोग्राम आंकी जा रही है। जिनकी कुल कीमत लगभग दो करोड़ रुपए के आसपास बताई जा रही है।

खुदाई में और भी मिल सकते है छिपे खजाने

खजाने में मिले सोने चांदी के आभूषणों में 22 सोने के झुमके, 51 सोने की मोती और 11 सोने के मंगलसूत्र सहित अन्य कई बेशकीमती चीजें मिली है। वहीं चांदी के आभूषणों की बात की जाए तो इसमें 26 चांदी की छड़ी, पांच चांदी की चेन और अन्य सामग्री प्राप्त हुई है। ये सभी आभूषण बेशकीमती है। खुदाई के दौरान जब यह खजाना मिला तब पेमबर्थी के सरपंच अंजनीयुला गौड़ ने इसकी पुष्टि की कि यह सभी जेवरात सोने-चांदी के है। जिन्होंने बताया कि यह खजाना काकतीय काल वंश का हो सकता है। इस दौरान उन्होंने यह भी बात कही कि यदि स्थानीय प्रशासन इस गांव में खुदाई करवाते है, तो उन्हें ऐसे और भी बेशकीमती खजानें मिल सकते है, जो काकतीय काल वंश के छिपे हुए है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *