amla ke fayde or nuksan in hindi

Amla ke fayde in Hindi || आंवला का सेवन क्यों है जरूरी और नुकसान क्या है | आंवला के फायदे व नुकसान

स्वास्थ्य

आंवला को आयुर्वेदिक औषधियों में सबसे प्राचीन माना जाता है और भारत में तो यह बहुत ही ज्यादा प्रसिध्द है, क्योंकि घरेलू नुख्सो में आंवला का काफी इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं यहाँ तो आंवला के पेङ और फल दोनो की पूजा भी कि जाती है। आंवला पोषक तत्वों और एंटीऑक्सीडेंट का बहुत अच्छा श्रोत माना जाता है। आंवला का इस्तेमाल बालो के लिए किया जाता है, और यूं कहा जाए की आंवला बालों के लिए बहुत लाभदायक है। आज इस लेख के माध्यम से आंवला के फायदे और नुकसान (Amla ke fayde or nuksan in hindi) के बारे बतायेंगे।

ये भी पढें-  बादाम के अनेक फायदे || Almonds Benefits in Hindi

आंवला का सेवन से लाभ || Amla ke fayde in Hindi

आंवला का उपयोग भारत में दवाई के रूप में किया जाता है इसमें जीवाणुरोधी और पोषक तत्व पाया जाता है जिसे नजरअंदाज नही कर सकते है। आंवला का फायदा तो बालो से लेकर श्वास सम्बन्धित रोगो के बचाव में देखा जा सकता है। आंवला का उपयोग से निम्नलिखित लाभ होते है।

 

बालों को मजबूत बनाए (Amla strengthens hair)

शायद यह बात तो सबको पता होगा कि बालो के झङने का मुख्य कारण विटामिन C की कमी होती है और आंवला से अच्छा विटामिन C का श्रोत कुछ नही हो सकता है, यह आंवला में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इतना ही नही यह बालो को सफेद होने से बचाता है, बालो की वृध्दि में सहायता करता है। आंवले के पाउडर या फिर पेस्ट को बालो में लगाए, जिससे बालों के रुसी भी गायब हो जाते है। और तो और बालो को लम्बे और घने बनाने में भी मदद करता है।

 

नजर उन्नत करे (Amla is very beneficial for improving eyesight)

आंवला में पाये जाने वाले कैरोटिन आंखो की दृष्टि को तेज करता है। आंवला का सही से सेवन करने से आंखो की नजर में सुधार होता है। इतना ही नहीं मोतियाबिंद की समस्या से भी राहत दिलाता है, इसके अलावा आंखो की अन्य समस्याएं जैसे की आंखो का लाल होना, आंखो से पानी आना इत्यादि से भी राहत दिलाता है।

 

दिमाग तेज करे (Amla sharpens the mind)

दरअसल आंवला में खनीज और विटामिन भरपूर मात्रा में मिलता है और मस्तिष्क के लिए यह बहुत जरुरी होता है। मस्तिष्क को पोषण देने के लिए आंवला का सेवन करना बहुत जरुरी है।

 

गला ठीक करे ( Amla cure throat)

आंवला का सेवन से गले की समस्यायें भी दूर होती है। अदरक के जूस के साथ आंवला को मिक्स कर के पीने से आपके गले की समस्या दूर हो जाएगी।

 

पाचन शक्ति ठीक करे (Amla improves digestion power)

आंवला का मुख्य रुप से प्रयोग पाचक तंत्र के सुधार और उसे शक्तिशाली बनाने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से गैस या गैस्ट्रीक जैसी समस्या से आराम मिलता है। यह न केवल पाचक तंत्र को मजबूत करता है बल्कि colon की भी सफाई करता है। आंवला के सेवन से कब्ज, डायरिया और बवासीर जैसे रोगो से भी आराम मिलता है।

 

हड्डियों को मजबूत बनाये (Amla strengthen bones)

आंवला हड्डियों को मजबूत बनाने में काफी अच्छा श्रोत है। हड्डियों को मजबूत रखने के लिए कैल्शियम की जरुरत होती है और कैल्शियम आंवला में भरपूर रुप से पाया जाता है। इसलिए नियमित रुप से आंवले के रस का सेवन करे जिससे की हड्डिया मजबूत बनी रहे।

 

त्वचा के लिए (Amla is very beneficial for the skin)

वास्तव में आंवला ठण्डा होता है जिस वजह से त्वचा के परिशानियों को दूर करता है। आंवले का पाउडर को मुँह में लगाने से मुहांसे गायब हो जाते है। इसका एंटीबैक्टेरियल गुण त्वचा को कई रोगो से बचा कर सुन्दर और चमकदार बनाता है।

 

मोटापा कम करने में सहायक (Amla helps in reducing obesity)

यदि आप मोटापा से परेशान है तो आंवला का सेवन करना शुरू कर दीजिए। यह शरीर के कैलोरी को जला देता है और वजन घटाने में मदद करता है। यह केवल वजन ही नही कम करता है बल्कि वजन कम करने के साथ साथ यह शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है।

 

रक्त को शुध्द करे (Amla purifies the blood)

आवला का जूस बहुत लाभदायक माना जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होता है जो न केवल रक्त को साफ करता है बल्कि रक्त सम्बन्धित रोगो को भी दूर करता है।

ये भी पढें-  Aloe Vera: जानिए शरीर के लिए कितना फायदेमंद है

आंवला के नुकसान || Amla ke nuksan in Hindi

आंवला हृदय और लिवर के लिए लाभदायक माना जाता है, यह हृदय और लिवर की समस्याओं से आराम दिलाता है। जहां इतने सारे फायदे है वहीं आंवला से थोडा बहुत नुकसान भी है जैसे कि

आंवला ठण्डा होता है और सर्दियों में इसका सेवन करने से जुखाम और खांसी का कारण बन सकता है। इसके अधिक सेवन से त्वचा में नमीं आ जाती है इसलिए इसके सेवन के साथ अधिक मात्रा में पानी भी पीना चाहिए। इसमें फाइवर भी अधिक मात्रा में पाया जाता है जिस वजह से इसके अधिक सेवन से डायरिया भी हो सकता है। गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन न के बराबर करना चाहिए क्योकि आंवला का सेवन से इनके पाचन क्रिया पर असर पङ सकता है। विशेष रुप से यह ध्यान मे रखे कि आंवला का सेवन के बाद दूध, चाय या कॉफी बिल्कुल भी न ले क्योंकि आंवला खट्टा होता है और इसके साथ दूध या उसके उत्पादो का सेवन से शरीर को हानि हो सकता है।

Disclaimer- आंवला के फायदे और नुकसान (Amla ke fayde or nuksan in Hindi) दोनो ही है इसलिए इसकी पुष्टी  NewsHeights.com नहीं करता है, इसको अमल में लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *