भाजपा का कांग्रेस से सवाल- आप राहुल गांधी हैं या चाइनीज गांधी है? राहुल का चीन से विशेष प्रेम क्‍यों?

बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा से ठीक पहले हमला करते हुए कहा है कि राहुल गांधी को चीन से बहुत प्यार है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की धार्मिक यात्रा के लिए चीन जा चुके हैं। इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी ने सवाल उठाए हैं। भाजपा नेता संबित पात्रा ने कहा है कि राहुल गांधी को चीन से इतना लगाव क्यों है राहुल भारत के नागरिक हैं, लेकिन हमेशा वह ऐसा व्‍यवहार करते हैं जैसे चीन के प्रवक्‍ता हों। आज बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि  आखिर राहुल के चीन के प्रति इस विशेष प्रेम की वजह क्‍या है? उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी से हम पूछना चाहते हैं कि राहुल गांधी जी अपने पसंदीदा देश चीन में कौन से पॉलिटिशियन से मिलने वाले है और उनसे किन-किन मुद्दों पर डिस्कशन होने वाले है।

संबित पात्रा ने तंज किया की भारत का पक्ष जानने के लिए भी राहुल गांधी चीन के लोगों से मिलते हैं। जब जर्मनी में जब राहुल गांधी से डोकलाम को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। जब आपको जानकारी नहीं है तो आपने डोकलाम को ‘धोखालाम’ कैसे कहा? डोकलाम विवाद के समय मे भी राहुल गांधी ने डोकलाम के बारे में सरकार से बात करने की बजाए राहुल गांधी ने चीन से बात करना उचित समझा। तभी उन्होने रात के अंधेरे में परिवार सहित चीन के राजदूत मुलाकात की, लेकिन भारत सरकार को विश्वास में नहीं लिया। . उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस पार्टी ने इस मुलाकात को नकारा, लेकिन बाद में उन्हें स्वीकार करना पड़ा। राहुल गांधी को भारत का पक्ष जानने के लिए भारत पर नहीं, चीन पर विश्वास है।

हालांकि उन्‍होंने कहा कि भाजपा को राहुल की कैलाश मानसरोवर यात्रा (धार्मिक यात्रा) पर कोई एतराज नहीं है, ये उनकी उनकी व्यक्तिगत यात्रा है और उनकी आस्‍था का विषय है। वह इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते है।

संबित पात्रा ने कहा नेपाल जाते समय राहुल गांधी चाहते थे कि चीन के अम्बेसडर उन्हें छोड़ने आएं। संबित ने सवाल उठाया कि आखिर राहुल गांधी क्यों ये चाहते थे कि चीन के अम्बेसडर उन्हें छोड़ने जाए, जबकि वो चीन नहीं नेपाल जा रहे थे. संबित ने कहा कि क्योंकि आप राहुल गांधी हैं, न कि चाइनीज गांधी है. ऐसे में आपको चाइना का एंबेसडर क्यों सी ऑफ करे।

संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी भारत को और भारत की सरकार को डेमोक्रेसी सीखने के लिए चीन का उदाहरण देते हैं कि चीन से सीखनी चाहिए राहुल गांधी ने रोजगार के मुद्दे पर भी भारत की तुलना चीन से की थी । उन्होंने सवाल किया कि आखिर राहुल यह आंकड़े लेकर कहा से आते हैं कि चीन में 50 हजार लोगों को हर रोज रोजगार मिलता है । जबकि भारत में 450 लोगों को रोजगार मिलता है । चीन में किसने उनको यह जानकारी दी? इससे कहीं ना कहीं यह बात साफ होती है कि राहुल गांधी चीन के प्रवक्ता की तरह बातें करते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *